#253 "क्या मोहब्बत हे हमसे,"

हम गुलाब लेकर आए उन्होंने हाथ से मसल दिया ।
हममें पूछा- “क्या मोहब्बत हे हमसे,”
उन्होनें गुलाब  नीचें  फेंका  ऒर पैर से कुचल दिया।
~मयंक
Hum gulab lekar aaye unhone hathon se masal dia….
hmne poocha- “kya mohbbat h hmse”..
unhone gulaab zameen par fenka or peron se kuchal dia…

Leave a Reply