#373. इतना सा है सवाल मेरा।

तुझसे सिर्फ इतना सा है सवाल मेरा।
अगर नही रहा कोई वास्ता मुझसे,
तो क्यों आता है रह-रह कर तुझे ख़याल मेरा॥
-मयंक

0 thoughts on “#373. इतना सा है सवाल मेरा।”

Leave a Reply