#381. सही फैसला।

इन्सान कोई सही फैसला नहीं ले पाता है।
जब दिल और दिमाग दो गुटों में बंट जाता है॥
-मयंक

0 thoughts on “#381. सही फैसला।”

Leave a Reply