#434. ये गलतफ़हमी है तुम्हारी….

image

बढ़ाई थी दूरियाँ तुमसे, की भुला दो तुम हमें।
हमने तुम्हे भुला दिया, ये गलतफ़हमी है तुम्हारी॥
<3 ©मयंक <3

0 thoughts on “#434. ये गलतफ़हमी है तुम्हारी….”

Leave a Reply