Logon ko sirf output dikhta h… :p

कच्चा माल :

image

कुछ कांट-छांट:

image

गीली मिट्टी घड़े का रूप लेती हुई :

image

जो पहले पसंद आया, पर बाद में मज़ा नही आया:

image

फिर लगे जब काम पर:

image

6 घंटे की मेहनत के बाद:

image

अब कुछ अच्छा लग रहा है,
तो जरा सा फिनिशिंग टच:
Landscape Mode:

image

Portrait Mode:

image

8 घंटे की मेहनत का फल कुछ अच्छा ही लगता है, ।
और कुछ लोग कहते है की लिखने क्या लगे हो तो शायरी के साथ अपनी Pic भी लगाओगे।
तो मेरा कहना है- हाँ जी, क्यों आपको कोई परेशानी। 😉
जितनी देर में 20 शायरी लिखता हूँ उससे ज्यादा एक background सोचने में और उसे बनाने tym लगता है, उसे बनाने में जो Patience चाहिए शायद आप न समझे, क्यूंकि कहने को हर काम आसान लगता है, कभी खुद भी try करके देखिये जनाब 🙂
software में बताता हूँ-
1- Photoscape
2- Corel Draw
3- Adobe Photoshop
4- Paint
5- और बिन google की help के काम नही बनेगा।
.
एक background बनाने में सिर्फ इन चीज़ों का इस्तेमाल करता हूँ।
मेरा राज़ ये है, अब आपकी बारी है 😀
<3 मयंक <3

0 thoughts on “Logon ko sirf output dikhta h… :p”

  1. Hehe, haan bhaiya, ekdum correct hai. Shayri likhne se jyada mehnat toh isme lagi hogi na! Log nai samajhte, Shaayri aapne likhi toh apni pic lagana toh obvious hai 🙂
    Vaise achhe lag rahe ho! 😉

Leave a Reply