#501. समुन्द्र की लहरें …


Samundar ki Leharen or teri Yaaden Ek jaisi hai…
Vo Sahil par, Or Teri yaaden mere Dil me…
Dono aati hai…
Apne hone ka ehsaas krati hai..
Or chali jaati hai…

 

समुन्द्र की लहरें और तेरी यादें एक जैसी है ।
वो साहिल पर और तेरी यादें मेरे दिल में॥
दोनों आती है,
अपने होने का एहसास दिलाती है,
और चली जाती है ॥

<3  mयंक  <3

0 thoughts on “#501. समुन्द्र की लहरें …”

Leave a Reply