#525. शायर की आह – Shayar ki Aah..


​शायर के हर हर्फ़ पर लोग करते है वाह।

सब कहते है की क्या खूब कहा है,

पर किसी को दिखती नही उसके दिल की आह।।

💝mयंक 

0 thoughts on “#525. शायर की आह – Shayar ki Aah..”

Leave a Reply