#534. मेरे इज़हार न करने की वजह…

​उससे इज़हार इसलिए भी नही किया कभी।

क्यूंकि उसे पाने से ज्यादा उसे खोने का डर था।।

Isse Izhar islie bhi nhi kiya kabhi,

Kyunki use paane se jyada, use Khone ka Darr tha…
💝 ©mयंक 💝
———————————-

Click here to like Dil Ki Kitaab on fb 😊😊

23 thoughts on “#534. मेरे इज़हार न करने की वजह…”

    1. Hain. . 😯😯😯😯😯
      Commnt kb kia h….
      I mean kl ya aaj…
      Sch m nhi dikh rha koi commnt….😑😑😑
      😥😥😥😥
      Scrnshot le lena agli baar commnt krne k baad 😥😥😥😥😥😥😿😿😿😿

Leave a Reply