#548. पत्थर दिल मेरा…. (Patthar Dil Mera…)

कुछ किस्सों को इसलिए भी हवा नही दी,

की उसका बसा-बसाया घर जल जाता।

उस चिंगारी को इसलिए भी नहीं बुझने दिया,

अगर वो बुझ जाती तो दिल पिघल जाता ।।

💝mयंक

Leave a Reply