#556. कड़वी ज़ुबान…

ज़ुबाँ को इतना भी कड़वा न कीजिये की शहद फीका लगने लगे।

अपनों से इतना भी बैर न कीजिये की उनका हर एक शब्द तीखा लगने लगे।।

🤔mयंक

Leave a Reply